Recent Comments

    test
    test
    OFFLINE LIVE

    Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

    July 18, 2024

    Chandrayaan 3 Landing: भारत के चंद्रयान-3 मिशन में ISRO के इन साइंटिस्ट्स का है अहम योगदान, देखें तस्वीरें।

    1 min read

    Chandrayaan 3: दुनियाभर की नजर भारत के चंद्रयान-3 की लैंडिंग पर है , इसरो के मुताबिक भारत का चंद्रयान-3 23 अगस्त को चांद पर लैंड करेगा , फिलहाल चंद्रयान-3 चांद की सतह से कुछ किमी. की दूरी पर है।
    चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग हासिल करने का भारत का दूसरा प्रयास है , उलटी गिनती शुरू होने से पहले, इसरो के अध्यक्ष एस सोमनाथ और कई प्रमुख वैज्ञानिकों ने मिशन की सफलता के लिए चंद्रयान -3 के मॉडल के साथ तिरुपति वेंकटचलपति मंदिर का दौरा किया और प्रार्थना की , चंद्रयान 3 में कई वैज्ञानिकों ने काम किया है।
    एस सोमनाथ (S Somanath): इसरो चेयरमैन एस सोमनाथ भारत के महत्वाकांक्षी मून मिशन के मास्टरमाइंड में से एक हैं , उनके कार्यभार संभालने के बाद से चंद्रयान-3, आदित्य-एल1 (सूर्य मिशन) और गगनयान जैसे महत्वपूर्ण मिशनों को गति मिली है।
    पी वीरमुथुवेल (P Veeramuthuvel), परियोजना निदेशक, चंद्रयान-3 : पी वीरमुथुवेल ने 2019 में चंद्रयान -3 प्रोजेक्ट डायरेक्टर के रूप में कार्यभार संभाला ,उन्होंने वर्तमान इसरो मुख्यालय में स्पेस इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोग्राम कार्यालय में उप निदेशक के रूप में कार्य किया , वीरमुथुवेल ने चंद्रयान -2 मिशन में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
    एस उन्नीकृष्णन नायर( S Unnikrishnan Nair), निदेशक, विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र (वीएसएससी) : एस उन्नीकृष्णन नायर VSSC के प्रमुख और LVM3 रॉकेट के निर्माता हैं , वह और उनकी टीम मिशन के विभिन्न महत्वपूर्ण पहलुओं के लिए जिम्मेदार है।
    एम शंकरन (M Sankaran), निदेशक यू आर राव सैटेलाइट सेंटर (यूआरएससी): एम शंकरन यूआर राव सैटेलाइट सेंटर (यूआरएससी) में निदेशक हैं , यह केंद्र इसरो के लिए भारत के सभी उपग्रहों के निर्माण कराता है , वर्तमान में शंकरन उस टीम का मार्गदर्शन कर रहे हैं जो देश की जरूरतों को पूरा करने के लिए उपग्रह बनाती है ,
    ए राजराजन (A Rajarajan), अध्यक्ष, लॉन्च ऑथराइजेशन बोर्ड (एलएबी): ए राजराजन, एक प्रतिष्ठित वैज्ञानिक हैं और वर्तमान में भारत के प्रमुख स्पेसपोर्ट, श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र एसएचएआर(एसडीएससी एसएचएआर) के निदेशक हैं , राजराजन कंपोजिट के क्षेत्र में विशेषज्ञ हैं।
    अन्य प्रमुख अधिकारियों में मिशन निदेशक मोहन कुमार के नेतृत्व वाली एक टीम शामिल है।

    About The Author

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *