Recent Comments

    test
    test
    OFFLINE LIVE

    Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

    June 14, 2024

    मोदी बोले- घमंडिया गठबंधन सनातन को समाप्त करना चाहता है:बीना में कहा- गांधी के आखिरी शब्द थे हे राम… वे जीवन भर सनातन के पक्ष में रहे।

    1 min read

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सागर के बीना में BPCL (भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड) रिफाइनरी में 50 हजार करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले पेट्रो केमिकल प्लांट की आधारशिला रखी। रिफाइनरी से 3 किलोमीटर दूर हड़कलखाती गांव में सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘घमंडिया गठबंधन सनातन को समाप्त करना चाह रहा है। गांधी जी के आखिरी शब्द थे- हे राम…। वे जीवन भर सनातन के पक्ष में रहे।’

    सभास्थल से ही मोदी ने 1800 करोड़ रुपए के इंडस्ट्रियल प्रोजेक्ट्स का वर्चुअली शिलान्यास किया। इनमें नर्मदापुरम के ऊर्जा एवं नवकरणीय ऊर्जा उत्पादन प्रक्षेत्र, आईटी पार्क-3 व 4 इंदौर, मेगा इंडस्ट्रियल पार्क रतलाम और 6 इंडस्ट्रियल पार्क (नर्मदापुरम, गुना, शाजापुर, मऊगंज, आगर-मालवा और मक्सी) शामिल हैं।

    यह प्रधानमंत्री का मध्यप्रदेश में 6 महीने में छठा दौरा है। इससे पहले 12 अगस्त को उन्होंने सागर आकर संत रविदास मंदिर की आधारशिला रखी थी।
    प्रधानमंत्री का पूरा भाषण…

    50 हजार करोड़ रु. एक कार्यक्रम में लगा रहे, इतना तो राज्यों का पूरे साल का बजट नहीं

    बुंदेलखंड वीरों-शूरवीरों की धरती है। इस भूमि को बीना-बेतवा नदी का आशीर्वाद मिला हुआ है। मुझे महीने भर में दूसरी बार सागर आकर आप सभी के दर्शन का सौभाग्य मिला। मैं शिवराज सरकार का भी अभिनंदन करता हूं कि आज आप सभी के बीच आकर आपके दर्शन का अवसर दिया।
    पिछली बार मैं संत रविदास जी के भव्य स्मारक के भूमिपूजन के अवसर पर आपके बीच आया था। आज मुझे मध्यप्रदेश के विकास को नई गति देने वालीं अनेक परियोजनाओं का भूमिपूजन करने का अवसर मिला। ये परियोजनाएं इस क्षेत्र के औद्योगिक विकास को नई ऊर्जा देंगी। इन परियोजनाओं पर केंद्र सरकार 50 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च करने वाली है।
    आप कल्पना कर सकते हैं कि 50 हजार करोड़ रुपए क्या होता है? हमारे देश के कई राज्यों का पूरे साल का बजट भी इतना नहीं होता है, जितना आज एक ही कार्यक्रम के लिए भारत सरकार लगा रही है। ये दिखाता है कि मध्यप्रदेश के लिए हमारे संकल्प कितने बड़े हैं। ये सारे प्रोजेक्ट्स आने वाले समय में मध्यप्रदेश में हजारों युवाओं को रोजगार देंगे।
    मैं यह गारंटी देने आया हूं कि एमपी में नई इंडस्ट्री आएंगी, रोजगार के अवसर मिलेंगे

    साथियों, आजादी के इस अमृत काल में हर देशवासी ने भारत को विकसित बनाने का संकल्प लिया है। इस संकल्प की सिद्धि के लिए ये जरूरी है कि भारत आत्मनिर्भर हो। हमें विदेशों से कम से कम चीजें मंगानी पड़ें। आज भारत पेट्रोल-डीजल तो बाहर से मंगाता ही है, हमें पेट्रो केमिकल प्रोडक्ट्स के लिए भी दूसरे देशों पर निर्भर रहना पड़ता है।
    आज बीना रिफाइनरी में पेट्रो केमिकल कॉम्प्लेक्स का शिलान्यास हुआ है। यह भारत को ऐसी चीजों के उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने का काम करेगा। बहुत से लोगों को यह पता ही नहीं होता कि प्लास्टिक पाइप, बाल्टी-मग, कुर्सी-टेबल, पेंट, पैकिंग मटीरियल, मेडिकल उपकरण बनाने में पेट्रो केमिकल की बहुत बड़ी भूमिका होती है।
    बीना में बनने वाला यह कॉम्प्लेक्स इस पूरे क्षेत्र को विकास की नई ऊंचाई पर पहुंचा देगा, यह मैं आपको गारंटी देने आया हूं। यहां नई इंडस्ट्री आएंगी। किसानों, छोटे उद्यमियों को मदद मिलेगी। सबसे बड़ी बात है कि मेरे नौजवानों को भी रोजगार के हजारों मौके मिलने वाले हैं।
    नए भारत में मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर का भी कायाकल्प हो रहा है। देश की जरूरत बढ़ रही है, जरूरतें बदल रही हैं। इसी सोच के साथ आज यहां इस कार्यक्रम में MP के दस नए इंडस्ट्रियल प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया गया है। मध्यप्रदेश की औद्योगिक ताकत बढ़ेगी तो इसका लाभ सभी को होने वाला है। सभी की कमाई बढ़ेगी। नए अवसर मिलेंगे।
    एक जमाना था जब MP में अपराधियों का ही बोलबाला था

    किसी भी देश या फिर किसी भी राज्य के विकास के लिए जरूरी है कि पूरी पारदर्शिता से शासन चले। भ्रष्टाचार पर लगाम कसी रहे। यहां मध्यप्रदेश में आज की पीढ़ी को बहुत याद नहीं होगा, लेकिन एक वो भी दिन था, जब यहां की पहचान देश के सबसे खस्ताहाल राज्यों में थी। आजादी के बाद जिन्होंने लंबे समय तक MP में राज किया, उन्होंने भ्रष्टाचार-अपराध के सिवा कुछ भी नहीं दिया।
    एक वो जमाना था, जब MP में अपराधियों का ही बोलबाला था, कानून व्यवस्था पर लोगों को भरोसा ही नहीं था। ऐसी स्थिति में आखिर मध्यप्रदेश में उद्योग कैसे लगते, व्यापारी यहां आने की हिम्मत कैसे करता? आपने जब हम लोगों को सेवा का मौका दिया, हमने पूरी ईमानदारी से मध्यप्रदेश का भाग्य बदलने का भरसक प्रयास किया। हमने मध्यप्रदेश को भय से मुक्ति दिलाई।
    पुरानी पीढ़ी के लोगों को याद होगा कि कैसे कांग्रेस ने इसी बुंदेलखंड को सड़क, बिजली और पानी जैसी सुविधाओं से तरसाकर रख दिया था। आज भाजपा सरकार में हर गांव तक सड़क, हर घर तक बिजली पहुंच रही है। कनेक्टिविटी सुधरी है तो उद्योग-धंधों के लिए पॉजिटिव माहौल बना है। बड़े निवेशक मध्यप्रदेश आना चाहते हैं। नई फैक्ट्री लगाना चाहते हैं। मध्यप्रदेश नई ऊंचाई छूने जा रहा है।
    G-20 की सफलता का श्रेय मोदी को नहीं, आप सभी लोगों को जाता है

    आज का नया भारत बहुत तेजी से बदल रहा है। आपको याद होगा कि लाल किले से मैंने गुलामी की मानसिकता से मुक्ति और सबके प्रयास के संबंध में विस्तार से चर्चा की थी। आज देखकर गर्व होता है कि भारत ने गुलामी की मानसिकता को पीछे छोड़कर अब स्वतंत्र होने के स्वाभिमान के साथ आगे बढ़ना शुरू कर दिया है। कोई भी देश जब ऐसा ठान लेता है तो उसका कायाकल्प शुरू हो जाता है।
    अभी आपने इसकी तस्वीर G-20 समिट में देखी है। आप सभी ने देखा है कि भारत ने किस तरह जी-20 का सफल आयोजन किया। आप मुझे बताइए, जी-20 की सफलता से आपको गर्व हुआ या नहीं? देश को गर्व हुआ कि नहीं? आपका माथा ऊंचा हुआ कि नहीं? आपका सीना चौड़ा हुआ कि नहीं हुआ |

    About The Author

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *